चुनौ कु शंखनाद

    Anup Singh Rawat
    By Anup Singh Rawat

    5/5 stars (2 votes)

    चुनौ कु शंखनाद

     

    image
    चुनौ कु शंखनाद ह्वेगे

    हर दल मा घमासान ह्वेगे

    अपड़ा बिरणा ह्वेगे त

    बिरणा बळ अपड़ा ह्वेगे

    पार्टी टिकट पौणा कु

    हर कैन खूब जोर लगै

    जैथै नि मिलु त वो

    बळ निर्दल खडु ह्वेगे

    गौं ख्वलों अर सैरों म

    नेतों से ज्यादा तौंका

    चमचों कु घपरोळ ह्वेगे

    जण चारेक दिनों कु बळ

    फ्री पीणा कु इंतजाम ह्वेगे

    नेता देणा छि बुसिल्या भाषण

    जनता बिचारि ताळी बजाणी

    ये आस मा कि ऐंसु भलु होलु

    अर नेता जी फिर झणी

    टोपळी पैने की चलिगे।।


    ©® 2018 अनूप सिंह रावत

     
    इस ब्लॉग पर प्रकाशित सभी रचनाओं (कविता, गीत, शायरी और लेख) का सर्वाधिकार मूल रचनाकार के पास है. यदि आप इन रचनाओं का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इनको कहीं अन्य प्रयोग से पूर्व रचनाकार (अनूप सिंह रावत) की अनुमति अवश्य लें, और बिना रचनाकार के नाम के प्रकशित न करें. इन सभी रचनाओं में परिवर्तन करके धन अर्जित करना पूर्णतः कॉपीराइट एक्ट का उलंघन होगा. अतः आपसे निवेदन है कि बिना अनुमति के इन रचनाओं का प्रयोग न करें.


    आप अनुमति लेने के लिए rawat28anu@gmail.com पर मेल कर सकते हैं.

    Latest comments

    No comments

    Today's Deals: Great Savings Booking.com Booking.com